Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!
Question :

अभिकथनः केशिकागुच्छीय निस्यंदन (ग्लोमेरूलर फिल्ट्रेशन) में वृक्क से ऊर्जा का व्यय होता है। तर्कः केशिकागुच्छीय निस्यंदन, केशिकागुच्छीय केशिकाओं में बोमेन्स सम्पुट की अपेक्षा निम्न (कम) दाब के कारण होता है।

Updated On: 8-6-2021

This browser does not support the video element.

Video Solution: अभिकथनः केशिकागुच्छीय निस्यंदन (ग्लोमेरूलर फिल्ट्रेशन) में वृक्क से ऊर्जा का व्यय होता है। तर्कः केशिकागुच्छीय निस्यंदन, केशिकागुच्छीय केशिकाओं में बोमेन्स सम्पुट की अपेक्षा निम्न (कम) दाब के कारण होता है।

Answer

Step by step video & text solution for " अभिकथनः केशिकागुच्छीय निस्यंदन (ग्लोमेरूलर फिल्ट्रेशन) में वृक्क से ऊर्जा का व्यय होता है। तर्कः केशिकागुच्छीय निस्यंदन, केशिकागुच्छीय केशिकाओं में बोमेन्स सम्पुट की अपेक्षा निम्न (कम) दाब के कारण होता है। " by Biology experts to help you in doubts & scoring excellent marks in Class 11 exams.

लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

अभिकथन और तर्क दोनों सही हैं तथा तक, अभिकधन की सही व्याख्या करता है।

B

अभिकथन और तर्क दोनों सही हैं लेकिन तक, अभिकथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

C

अभिकथन सही है, लेकिन तर्क गलत है।

D

अभिकथन और तर्क दोनों गलत हैं।

Answer

D

Solution

ग्लोमेरूलर निस्यंदन ग्लोमेरुलर केशिकाओं में बहने वाले द्रव के, बोमेन्स संपुट के निस्यंद की अपेक्षा उच्च दाब के कारण होता है। दूसरे शब्दों में केशिकागुच्छीय निस्यंदन (ग्लोमेरूलर फिल्ट्रेशन) रूधिर दाब द्वारा होता है और चूँकि यह प्रक्रिया दाब प्रवणता का लाभ लेती है, केशिकागुच्छीय निस्यंदन में वृक्क कोशिकाओं से ऊर्जा नहीं व्यय होती है।

Question Details till 30/11/2021

Question अभिकथनः केशिकागुच्छीय निस्यंदन (ग्लोमेरूलर फिल्ट्रेशन) में वृक्क से ऊर्जा का व्यय होता है। तर्कः केशिकागुच्छीय निस्यंदन, केशिकागुच्छीय केशिकाओं में बोमेन्स सम्पुट की अपेक्षा निम्न (कम) दाब के कारण होता है।
Chapter Name उत्सजी उत्पाद एवं उनका निष्कासन
Subject Biology (more Questions)
Class 11th
Type of Answer video & text
Question Language
In Video - Hindi
In Text - Hindi
Students Watched 800+
Students Liked 800+
Question Video Duration 2m10s
निम्न में से कौन-सा कथन सत्य हैं ?<br>"tan A का मान सदैव-1 और 1 के बीच होता है।"
?? ??????? ????? ????? ????? ?? ?? ?????????? ?? -3.4 eV ????? ???? ?? `- 13.6 eV ????? ???? ??? ??????? ?? ??????? ???? ?? |
643324927
`वर्गीकृत आंकड़ों की 'से कम प्रकार' और 'से अधिक प्रकर' की संचयी बारम्बारता वक्रों के प्रतिच्छेद बिन्दु के 'भुज' से प्राप्त होता है आंकड़ों का----
प्रक्कथन : `""_(7)N` का आयनन विभव ""_(8)O" और "_(6)O` के आयनन विभव से अधिक होता है। <br> कारण : ऐसा ऑक्सीजन के प्रति क्रियात्मकता में अंतर के कारण होता है।
निम्न कथन सत्य या असत्य है-<br>सह -सम्बन्ध गुणांक का मान -2 से +2 के बीच होता है।
????? ????? ??? ?? ???-?? ????? ?? ?????????? ?? ?
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt