Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

यदि अतिपरवलय की उत्केंद्रता 2 हो, तो इसके संयुग्मी अतिपरवलय की उत्केंद्रता है-

Updated On: 8-7-2021

This browser does not support the video element.


Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

B

C

4

D

Answer

D

यदि बिंदु (4,6) से होकर जाने वाले मानक अतिपरवलय की उत्केंद्रता 2 है, तो (4,6) पर अतिपरवलय पर खींची गई स्पर्श रेखा का समीकरण है
एक अतिपरवलय की नाभियाँ दीर्घवृत्त `(x^(2))/(25)+(y^(2))/(16)=1` की नाभियों के सम्पाती है। यदि अतिपरवलय की उत्केन्द्रता `sqrt(3)` हो तो उसका समीकरण ज्ञात कीजिए।
यदि `m_(1)` व `m_(2)` अतिपरवलय `(x^2)/(25)-(y^2)/(16)=1` की स्पर्श रेखाओं की प्रवणताएं हो, जो बिन्दु (6,2) से गुजरती है , तो
यदि अतिपरवलय `16x^(2) -9y^(2) = 144` की नियता (directrix) `5x + 9 = 0` है, तो इसका संगत नाभिकेन्द्र है
किसी आयतीय अतिपरवलय के नियताओं के बीच की दूरी 10 इकाई हो, तो उसके नाभियों के बीच की दूरी होगी :
एक अतिपरवलय बिन्दुओं (3,2) तथा (-17,12) से गुजरता है और उसका केंद्र मूलबिन्दु पर है तथा अनुप्रस्थ अक्ष x- अक्ष है। अतिपरवलय की अनुप्रस्थ अक्ष की लम्बाई है।
यदि किसी समकोणीय अतिपरवलय के नियताओं के बीच की दूरी 10 इकाई हो, तो उसके नाभियों के बीच की दूरी होगी
यदि अतिपरवलय `(x^(2))/(a^(2))-(y^(2))/(b^(2))=1` की उत्केन्द्रता e तथा अन्तःस्पर्शियों के बीच का कोण `alpha` हो, तो `"sec"(alpha)/(2)=`
एक अतिपरवलय का केंद्र मूलबिंदु पर है तथा यह बिन्दु (4,2) से होकर जाता है और इसका अनुप्रस्थ (transverse) अक्ष X-अक्ष के अनुदिश है जिसकी लम्बाई 4 है तो इस अतिपरवलय की उत्केन्द्रता (eccentricity) है
एक दीर्घवृत्त जिसका केन्द्र मूलबिंदु पर है, की उत्केंद्रता `(1)/(2)` है। यदि उसकी एक नियता x=-4 है, तो उसके बिन्दु `(1,(3)/(2))` पर उसके अभिलम्ब का समीकरण है
अतिपरवलय `25x^2-16y^2=400` की जीवा का समीकरण क्या होगा, जिसका मध्य बिन्दु (5,3) है ?
यदि एक अतिपरवलय के शीर्ष `(-2,0)` तथा (2,0) पर है तथा इसकी एक नाभि `(-3,0)` पर है, तो निम्न में से कौन-सा बिन्दु इस अतिपरवलय पर स्थित नहीं है
उस दीर्घवृत्ताकार पथ की यांत्रिक रचना बताइये जिसके दीर्घाक्ष की भीतरी तथा बाहरी लम्बाईयाँ क्रमानुसार 400 और 440 मीटर है । पथ की उत्केंद्रता `0.8` है पथ अंकित करने के लिए कम से कम कितनी लम्बी डोरी चाहिए ?
यदि एक दीर्घवृत्त की दीर्घ अक्ष की लम्बाई, उसके लघु अक्ष की लम्बाई की तिगुनी है, तो उसकी उत्केन्द्रता होगी
अतिपरवलय `4x^(2) -5y^(2) = 20` की एक स्पर्श रेखा, जो रेखा `x-y =2` के समांतर है, का समीकरण है
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt