Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

एक ज्यावक्रिय दोलन (sinusoidal oscillations) वाले प्रगामी तरंग जोकि t=0 पर मूल बिन्दु से आगे बढ़ रही है के अन्तर्गत मूल बिन्दु से 4 cm की दूरी पर स्थित कण का `t = T//6`(T आर्वतकाल है।) पर विस्थापन आयाम कि आधी है। तो तरंग का तरंगदैर्ध्य होगा?

Updated On: 17-04-2022

This browser does not support the video element.


लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

0.96

B

0.48

C

0.24

D

0.12

Answer

B

Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

हेलो स्टूडेंट्स वेलकम टू डाउटनट एप यहां हमें क्या दे रखा है कि एग्जाम अक्रिय दुल्हन के निशानों सुखदेव है ठीक है पहले प्रगामी तरंग जोडी बराबर मूल बिंदु पर भी बराबर जीरो पर मूल बिंदु से आगे की तरफ बढ़ रही है जनता का मूल बिंदु से चार दूरी पर टिके दूर स्थित करण काटे बराबर 20 बटा 56 पर आवर्तकाल काल ने रे खाटू श्याम की आरती है तो पहले तो प्रश्न को समझिए यह प्रश्न यह क्या कह रहा है कि 19 सौ दर्द है जिसका एक्स बराबर 4 सेंटीमीटर पर ठीक है और 3 बराबर 3 बटा व्हाट्सएप पर टिकने तरंग का विस्थापन है यानी भाई बराबर विस्थापन विस्थापन यानी तरंग का जो विस्थापन है ठीक है वह बराबर क्या है आया

आयाम का आधा अन्यायाम बटा दो यानी इटावा दो और हम जानते हैं कि तरंगी समय जो लिखी जाती है - के बराबर 4 सेंटीमीटर और बी बराबर 2 बटा 56 पर जो विस्थापन है वह आयाम का आधा है तो यहां पर विस्थापन यह बढ़ावा दो बराबर आई ओमेगा को ओपन क्या लिख सकते हैं तो पाया फोन ठीक हो जाएगा 2.40 बराबर कितना हो जाएगा जब आया माता है तो थी बराबर थी बट अच्छे और एक ओपन क्या लिख सकते हैं उपाय बढ़ावा लंबा और एक्स का मान में कितना देर का 4 सेंटीमीटर में दे रखा स्कमीटर

बदलेंगे तो 4 बटा वह हो जाएगा ठीक है यहां देखिए ऐसे ही कट जाएगा तो 1 बटा 2 बराबर या जाएगा आई टी सी टिकट जाएगा दूर से यह तीन आ जाएगा यहां पर तो साइन पाई बाय 3 माइनस 8 5 - 16 मीटर या जाएगा अब देखो आएगा तो साईं साईं बस बराबर क्या हो जाएगा 5 - 3 - 8 बटा 16 - 1 बटा दो यानी यानी है कितना जाएगा बाय-बाय शिक्षा जाएगा आई - 6:30 - 3 -

8 5 - 16 मई 3 को इधर भेज देंगे तो बाय बाय 6 - 5 बाय 35 बटा 3 बराबर कितना हो जाएगा - 85 85 बटा 16 बटा 2 बटा 6 - 5 बटा 3 तो यहां से कितना जाएगा - 5 - 6 = - 88 5 बटा 16 मिला यहां - - कट जाएगा पाई पाई कट जाएगा तो हमारे पास में आ जाएगा 1 बटा 6 बराबर कितना हो जाएगा यहां पर लिम्डा हो रहा है ना बराबर 8 बटा हुआ 16 मीटर बराबर कितना हो जाएगा 8 गुना 6 बटा हुआ सो गया

हमारे पास में पॉइंट 4 8 सेंटीमीटर और 8 सेंटीमीटर हमें यहां विकल्प में दे रखा है तो विकल्प नंबर दो हमारा सही हो जाएगा थैंक्स

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - BANSAL HINDI Class 12 MECHANICAL WAVES

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - BANSAL HINDI Class 12 PHYSICS
यदि एक वक्र बिंदु (1, -2) से होकर जाता है तथा इस पर किसी बिंदु (x, y) पर स्पर्श रेखा का ढाल (slope) `(x^(2) - 2y)/(x)` है, तो यह वक्र निम्न में से किस बिंदु से होकर जाता है ?
यदि O मूल बिन्दु तथा `A(a,b,c)` है तो A से जाने वाले एवं OA लम्ब समतल का समीकरण है -
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए - <br> मूल बिन्दु 0 से समतल `vecr.vecN=d` की दूरी ............... है।
एक अतिपरवलय बिन्दु `P(sqrt2,sqrt3)` से होकर जाता है, तथा उसकी नाभियाँ `(pm2,0)` पर है, तो अतिपरवलय के बिन्दु P पर खींची गई स्पर्श रेखा जिस बिन्दु से होकर जाती है, वह है
बिन्दु (1, 2) से दीर्घवृत्त `3x^(2)+2y^(2)=5` पर खींची गई स्पर्शी युग्मों के बीच का कण है
उस वृत्त का समीकरण जिसका केन्द्र `x-अक्ष पर है तथा त्रिज्या 4 है। और जो मूल बिन्दु से होकर जाता है, होगा
उस वृत्त का समीकरण जिसका केन्द्र `x-अक्ष पर है तथा त्रिज्या 4 है। और जो मूल बिन्दु से होकर जाता है, होगा
एक वृत्त X-अक्ष पर एक जीवा काटता है जिसकी लम्बाई 4a है तथा यह वृत्त Y-अक्ष के एक बिन्दु से होकर जाता है जिसकी मूलबिंदु से दुरी 2b है , तो वृत्त के केन्द्र का बिन्दुपथ (locus) है
यदि एक अतिपरवलय के शीर्ष `(-2,0)` तथा (2,0) पर है तथा इसकी एक नाभि `(-3,0)` पर है, तो निम्न में से कौन-सा बिन्दु इस अतिपरवलय पर स्थित नहीं है
यदि बिंदु (3,4) समीकरण `3y=ax+6` के आलेख पर स्थित है , तो a का मान होगा :
उन दो सरल रेखाओं के समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिन्दु (0,a) से होकर जाती है तथा जिन पर बिन्दु (2a,2a) से खींचे गए लम्बो की माप a है।
उन रेखाओं का समीकरण जिन पर मूल बिन्दु से डाला गया। लम्ब x-अक्ष के साथ `30^@` का कोण बनाता है और उनसे तथा x-अक्ष से बने त्रिभुज का क्षेत्रफल `50/sqrt3` वर्ग इकाई हो, है
उस समतल का सदिश समीकरण जो बिन्दु `A(4,7,-4)` से जाता है तथा सदिश `(3,2,-1)`पर लम्ब है -
एक अतिपरवलय का केंद्र मूलबिंदु पर है तथा यह बिन्दु (4,2) से होकर जाता है और इसका अनुप्रस्थ (transverse) अक्ष X-अक्ष के अनुदिश है जिसकी लम्बाई 4 है तो इस अतिपरवलय की उत्केन्द्रता (eccentricity) है
एक त्रिभुज का एक शीर्ष (1,2) पर है तथा इससे होकर जाने वाली दो भुजाओं के मध्य - बिन्दु `(-1,1)` और (2,3) हैं , तो इस त्रिभुज का केन्द्रक है
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt