Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

दुर्बल अम्ल तथा उसके लवण के मिश्रण में अम्ल तथा लवण के सान्द्रता का अनुपात 10 गुना कर दिया जाता है, तो विलयन की pH होगी :-

Updated On: 23-5-2021

This browser does not support the video element.


Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

एक कम हो जाएगा

B

1/10 गुना बढ़ जाएगा

C

एक बढ़ जाएगा

D

10 गुना बढ़ जाता है

Answer

A

दो परस्पर लंबवत रेखाओ के दिक् अनुपात `1,2,3` तथा `3,2, lambda` है, तो का मान लिखिय।
एक परवलय के नाभिलम्ब का समीकरण `x+y=8` तथा उसके शीर्ष पर स्पर्शी का समीकरण `x+y=12` है, तो उसके नाभिलम्ब की लम्बाई है :
हैन्डरसन समीकरण `pH=pK_(a)+"log"(["लवण"])/(["अम्ल"])` हैं यदि अम्ल को आधा उदासीन कर दिया जाये तो pH का मान होगा `[pK_(a)=4.30]`
किसी आयतीय अतिपरवलय के नियताओं के बीच की दूरी 10 इकाई हो, तो उसके नाभियों के बीच की दूरी होगी :
दो विधुतरूधर ताँबे के समरूप आवेशित गोलों A और B में क्रमश: `q _(A )` और `q _(B )` आवेश है। उसी साइज का तीसरा अनावेशित गोला C पहले गोले A के संपर्क में रखा जाता है। तथा उसके बाद गोले B के संपर्क में रखा जाता है। अंत में दोनों से दूर कर दिया जाता है। A और B में नए आवेश क्या होंगे ?
A + अम्ल `to` लवण + कार्बनडाइऑक्साइड + जल <br> उपरोक्त समीकरण में A क्या है?
यदि बिंदु A जिसका स्थिति सदिश `bara+2barb` है तथा सदिश `bara, AB` को `2:3` के अनुपात में विभाजित करता है तो `B` का स्थिति सदिश है:
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को `pH=pK_(a)+log(["क्षार"])/(["लवण"])` द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को `pH=pK_(a)+log(["लवण"])/(["अम्ल"])` द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से `(["क्षार"])/(["लवण"])` का अनुपात `(["लवण"])/(["अम्ल"])` के लिए परिवर्तित हो जाता है। <br> 0.2 M एसीटिक अम्ल (`CH_(3)COO^(-)` का `pK_(a)=9.26`) के 50 mL के साथ 4.74pH का बफर बनाने के लिए आवश्यक 0.2 M NaOH का आयतन है
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को `pH=pK_(a)+log(["क्षार"])/(["लवण"])` द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को `pH=pK_(a)+log(["लवण"])/(["अम्ल"])` द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से `(["क्षार"])/(["लवण"])` का अनुपात `(["लवण"])/(["अम्ल"])` के लिए परिवर्तित हो जाता है। <br> एक लीटर विलयन में डाईक्लोरो एसीटिक अम्ल `(K_(a)=5xx10^(-2))` के 0.2 mole तथा सोडियम डाईक्लोरो एसीटेट के 0.1 mole है। विलयन में `[H^(+)]` है
निचे दिये गये ग्राफ में दो प्रकार के वाहनों A व B के छ वर्षो के प्रदूषण का आंकड़ा दिया गया है ।A घरेलू वाहनों तथा B व्यावसायिक वाहनों को दर्शाता है ,तो ग्राफ का अध्ययन क्र आगे दिये गये प्रशनो के उत्तर दीजिए|<br>यदि B वर्ष 2010 तथा 2011 में कुल प्रदूषण 2.4 इकाई हो तो वर्ष 2008 व 2009 में प्रदूषण कितना मापा गया ? <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/SNJ_SPG_HIN_MAT_X_C20_E02_006_Q01.png" width="80%">
निचे दिये गये ग्राफ में दो प्रकार के वाहनों A व B के छ वर्षो के प्रदूषण का आंकड़ा दिया गया है ।A घरेलू वाहनों तथा B व्यावसायिक वाहनों को दर्शाता है ,तो ग्राफ का अध्ययन क्र आगे दिये गये प्रशनो के उत्तर दीजिए|<br>यदि B वर्ष 2010 तथा 2011 में कुल प्रदूषण 2.4 इकाई हो तो वर्ष 2008 व 2009 में प्रदूषण कितना मापा गया ? <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/SNJ_SPG_HIN_MAT_X_C20_E02_006_Q01.png" width="80%">
यदि आव्यूह A का क्रम `2xx3` तथा आव्यूह B का क्रम `3xx2` हो, तो `AxxB` में अवयवों की संख्या ................ होगी |
बिंदु P समिष्ट में इस प्रकार है की `OP = 6` तथा `overline(op), OX` तथा OY-अक्षो के साथ क्रमश: `45^(@)` व `60^(@)` के कोण बनता है तो का स्थिति सदिश होगा -
यदि एक अतिपरवलय के संयुग्मी अक्ष (conjugate axis) की लम्बाई 5 है तथा इसकी नाभियो के बीच की दुरी 13 है, तो इस अतिपरवलय की उत्केंद्रता है
यदि किसी समकोणीय अतिपरवलय के नियताओं के बीच की दूरी 10 इकाई हो, तो उसके नाभियों के बीच की दूरी होगी
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt