Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

एक एलीवेटर और इस पर भार का कुल द्रव्यमान 800 किग्रा है। एलीवेटर वास्तव में 10 मी/से की चाल से नीचे की ओर गतिमान है। यह एकसमान त्वरण से धीरे होकर 25 मी की दूरी पर रुक जाता है। एलीवेटर के स्थिर होने में सहायक डोरी पर तनाव T ज्ञात कीजिए। (g = 10 `"मी/से"^2`)

Updated On: 17-04-2022

This browser does not support the video element.


लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

8000 न्यूटन

B

1600 न्यूटन

C

9600 न्यूटन

D

6400 न्यूटन

Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

हेलो फ्रेंड्स हमारा क्वेश्चन है एक एलिवेटर और इस पर बाहर का कुल द्रव्यमान हमारा 8 किलोग्राम है एलिवेटर वास्तव में जो 10 मीटर प्रति सेकंड की चाल से जुड़े नीचे की ओर गतिमान है तो एक समान त्वरण से धीरे फुकट 29 मीटर दूरी पर जो है झुक जाता है एलिवेटर के स्थिर होने में सहायक दूरी पर जो है बनावटी ज्ञात कीजिए जी हमें कितना जीवना 10 मीटर पर सेकंड स्क्वायर के बराबर है चार ऑप्शन कि मैंने पहले 8000 न्यूटन सेकंड में 16 मीटर नंबर 9 6 1 न्यूटन हो हमारे 6400 के क्वेश्चन कम यहां पर सिगरेट आ कर के देख लेते सबसे पहले हम यहां पर एक एलिवेटर बना लेते हैं ओके माल लेते ही हमारा क्या है कि हमारे कोई एलिवेटर है ओके एलिवेटर क्या है कि यहां पर हमारे जो यह एलिवेटर है यहां पर कहीं पर हमारी क्या होगी यहां पर जो है वहीं पर हमारी इस तरीके से जो है कोई गैर नहीं होगी यह एग्जैक्ट नहीं बता रहे हमारे एग्जैक्ट ऐसा ही होगा हम यहां पर जो है कुछ इस तरीके से हमारे इमेजिन करें कुछ इस तरीके से होगा और यहां पर हमारे जो कोई राशि होगी जहां से हमें हमारी जरूरत थी जो है धीरे-धीरे करके छोड़ी जाती हो गई है यहां पर किसी डेड आधार से बनी हो

विदेशी हमारी और यहां पर हमारी जो है इस गिरने पर रस्सी बहुत सारी लपेटी जा रहे हो की रस्सी हमारी धीरे-धीरे इस तरीके से छोड़ी जा रहे हो कि थोड़ी जा रही होगी तो यह एलिवेटर हमारे नीचे आ रहा है ओके अब यह जो एलिवेटर हमारा नीचे आ रहा है यह प्रारंभ यहां किसकी जो लिख दिया गई है प्रारंभिक चाल में क्वेश्चन में गिवेन है और 25 मीटर दूरी के बाद आकर रुक जाता तो मान लेते हैं यहां पर हमारा जो है एलिवेटर पर जो हमारा परिणाम भी थोड़ा लग रहा परिणाम वितरण में क्यों बोला कि यहां पर हमारे गुरुजी चरण भी लग रहा होगा तब यहां पर यह परिणामी तोरण की बात करें तो परिणामी तोरण हमारे इक्वल टू कितना है हमारे यहां पर जूते परिणामी तोरण हमारे लग रहा है अब इसके बाद क्या होगा कि हमारे यहां पर यह दूरी में जो हमारा था ना उल्टी होगा इस परिणामी तोरण की वजह से इस एलिवेटर पर कुछ परिणामी बल नीचे की तरफ लग रहा होगा यहां पर हमारा तनाव क्या लग रहा होगा हमारा तनाव लग रहा होगा ओके हमारे क्या कनावटी लग रहा होगा और इसी तनाव की वैल्यू हमें कैलकुलेट करनी है यहां पर जो हमारा क्या है कि जो अगर यह हमारा जो है यहां पर जो इस पर एक समान त्वरण हमारा जो है अगर लग रहा होगा उसकी वजह से क्या होगा कि एक्चुअली क्या है कि हमारे यहां पर

नीचे नहीं लग रहा होगा जो परिणाम भी थोड़ा लगेगा हमारा ऊपर की तरफ ही कि हमारी गति अगर नीचे हो रही है तो परिणामी तोरण हमारे ऊपर की तरफ लगेगा तभी जाकर हमारा क्या होगा कि हमारा यह जो है रुक पाएगा और हमारे यहां पर जो जी जी कहां पर लग रहा होगा यहां पर जी हमारा जो नीचे की तरफ लग रहा होगा ओके यह जी हमारा क्या है जी नीचे की तरफ लग रहा होगा यह जो हमारा जो है इसको जी को कैंसिल करने के बाद हमारे लिए परिणामी तोरण आएगा यह जी नीचे की तरफ लग रहा होगा और यह कुछ चाल से हमको कुछ तोरण सामान नीचे की ओर गति करा होगा तो दोनों का जो परिणाम ही आ रहा है और मारे गए परिणामी तोरण ऊपर की तरफ ही स्वस्थ पर लग रहा है ओके जब यह हमारे परिणामी तो नहीं लग रहा है तुम्हारा जो यह दूरी में तनाव हो जाएगा यह जुब्बल लगेगा दूरी में तनाव बस हम वाले थे आप के बराबर लग रहा है तो यहां पर परिणामी बल दूर दो ही हमारा किस तरफ लगेगा हमारा परिणामी बल डोरी में हमारा ऊपर की तरफ से इस तरीके से लगेगा तो यही जो परिणामी बल हमारे इस एलिवेटर पर हमारा जो परिणामी बल एफ लग रहा है वही हमारे यहां पर डोरी में तनाव पी के बराबर होगा क्योंकि इसका भार हमारे भी नीचे नीचे की तरफ होगा तो इसी के कारण बाहर आएगा लेकिन हमारा तोरण क्या लग रहा है ऊपर की तरफ लग रहा था हमारा जो यहां

परिणामी बल लगेगा हम यहां पर जो को अलग-अलग बल्कि बात नहीं कर रही है परिणामी बल की अलग-अलग बल्कि बात करेंगे तो हमारे यहां पर एमजी नीचे की तरफ लगेगा और भी बहुत सारे बल लगेंगे तो हमारा परिणामी बल अगर हमारे ऊपर है तो परिणामी बल हमारे ऊपर की तरफ लगेगा यह कितना हो जाएगा मारा न्यूटन के सेकंड नियम के अनुसार हमारा जो लगने वाला परिणामी बल होता यह हमारे किसके बराबर होता है द्रव्यमान * हमारा क्या होता तोरण के बराबर होता है और यह परिणामी बल ही हमारा जो ढोरी में तनाव लगेगा और यही तनाव पर क्या करेगा इसको रोकने में सहायक करेगा कितना हो जाएगा एम इनटू ए के बराबर हो जाएगा यह समीकरण एक माल लेते अब हमें यहां पर जो द्रव्यमान तो जीवन है लेकिन तोरण के बारे में हमें नहीं पता तू ना हम कैसे कैलकुलेट करेंगे यहां पर हमारा क्या है कि 10 मीटर पर सेकंड की चाल से जो प्रारंभिक काल से चली और 25 मीटर दूरी पर जाने के बाद रुक गई तो मार लेते यहां से जो डिस्टेंस हमारी यह कवर कर रही यहां से जो है यहां कहीं आने के बाद हमारी जो है यह इतनी दूरी कवर करने के बाद हमारा यह एलिवेटर क्या हो रहा है रुक जा रही है हमारी कितनी है 5 मीटर दूरी है और यहां पर जो प्रारंभिक चाल की वेन हमारी इक्वल टू कितना है 10 मीटर पर सेकंड के बराबर

और जब यहां पर आकर रुक जा रहे थे इसका जो अंतिम वेग हो जाएगा हमारा सोने के बराबर हो जाएगा यहां सम कैलकुलेट कर सकते हैं तोरण कैसे न्यूटन की गति का तीसरा समी कर यूज करें हमारा बी स्क्वायर इक्वल टू कितना होता है यह स्क्वायर प्लस टू ए * इसके बराबर होता है पता ही पता है यह पता है हम यहां से आसानी से तोरण कैसे लेट कर सकते हैं अंतिम यह हमारा शिवनी हो जा रहा प्रारंभिक वेग हमारा कितना है ट्रेन के बराबर है तो 10 का स्क्वायर हो जाएगा अब हमारा परिणामी तोरण ऊपर लग रहा तो यहां भी यह माइनस साइन आ जाएगा तो कितना हो जाएगा * * हमारा 20 साल के बराबर आ जाएगा तुझे मिस को सरल करते ही हमारे कितना यह 55 के बराबर हो जाएगा यहां से ए इक्वल टू कितना बजे आएगा मारा हंड्रेड 10 का स्क्वायर हंड्रेड हो जाएगा अधिकारी व 15 * हमारे कितने बजे का शिफ्ट हो जाएगा तो जो हमारे परिणामी त्वरण लग रहा है एलीवेटर पर कितना लग रहा है 2 मीटर पर सेकंड स्क्वायर के बराबर लग रहा हूं पर की तरफ से कुछ दूरी जाने के बाद रुकेगा ओके अब हमारा जो दूरी में तनाव लग जाएगा जो सहायक तनाव होगा ठीक कल तो हमारे कितना एक किलोग्राम उसका जो है अभिमान है एलिवेटर का और * हमारा थोड़ा कितना लग रहा तू के बराबर

हमारा जो तनाव होगा कितना होगा हमारा सुनाओ यहां पर 1600 न्यूटन के बराबर हो जाएगा तुझे हमारा दूरी में तनाव आ जाएगा कितना आ जाएगा और दूरी में तनाव हमारा 16 न्यूटन के बराबर आ जाएगा इसी की सहायता से क्या करेगा हमारे कुछ दूर जाने के बाद हमारा यह एलिवेटर क्या हो जाएगा रुक जाएगा तुझे हमारा कैंसर कौन सा राइट आंसर हो जाएगा सेकंड ऑप्शन हमारा आंसर से मैसेज करें तो सेकंड ऑप्शन हमारा राइट ऑप्शन हो जाएगा यहां समर क्वेश्चन कंप्लीट हो जाता है ओके थैंक यू

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - ARIHANT HINDI Class 12 गति के नियम एवं घर्षण

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - ARIHANT HINDI Class 12 PHYSICS

द्विविमीय गति

सॉल्वड पेपर 2017 (JEE MAIN )

JEE MAIN 2019

JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा सॉल्वड पेपर 2013

SOLVED PAPER 2013

अर्द्धचालक युक्तियाँ

ऊष्मा का स्थानांतरण

ऊष्मागतिकी

एकविमीय गति

कार्य , ऊर्जा एवं शक्ति

कार्य, ऊर्जा एवं सामर्थ्य

किरण प्रकाशिकी

किरण प्रकाशिकी एवं प्रकाशिक यन्त्र

गति के नियम तथा बल

गतिक वैद्युतिकी

गुरुत्वाकर्षण

गैसों का अणुगति सिद्धान्त

घूर्णन

घूर्णन गति

ठोस एवं अर्ध्दचालक युक्तियाँ

ठोसों के गुण

तरंग गति

तरंग प्रकाशिकी

तरंगे

दोलन

द्रव व ठोसों के गुण

द्रव्यमान केंद्र

धारा का चुम्बकीय प्रभाव

नाभिकीय भौतिकी

पदार्थ की द्वैती प्रकति तथा विकिरण

पदार्थ की द्वैती प्रकृति एवं विकिरण

परमाणवीय भौतिकी

प्रकाशीय उपकरण

प्रक्षेप्य गति

प्रत्यावर्ती धारा

प्रयोगात्मक भौतिकी

प्रैक्टिस सेट 2 (सम्पूर्ण पाठयक्रम पर आधारित )

प्रैक्टिस सेट 1 (सम्पूर्ण पाठ्यक्रम पर आधारित)

प्रैक्टिस सेट 3

भौतिकी तथा मापन

मापन

यूनिट टेस्ट 1 (यांत्रिकी)

यूनिट टेस्ट 2 सरल आवर्त गति तथा ध्वनि

यूनिट टेस्ट 4 (वैद्युतिकी)

यूनिट टेस्ट 5 (चुम्बकत्व, वि.वा. बल AC तथा विद्युत तरंगें )

यूनिट टेस्ट 6

यूनिट टेस्ट 7 (नाभिकीय तथा आधुनिक भौतिकी)

लॉजिक गेट

विद्युतचुम्बकीय तरंगें

विद्युतचुम्बकीय प्रेरण एवं प्रत्यावर्ती धारा

वृतीय गति

वृत्तीय गति

संचार

संचार प्रणालियाँ

सदिश राशियाँ

सदिश विश्लेषण

साल्वड पेपर 2014 JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा

साल्व्ड पेपर 2017 JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा OFFLINE

सॉल्वड पेपर 2015 JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा

सॉल्वड पेपर 2018

सॉल्व्ड पेपर 2014 JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा

सॉल्व्ड पेपर 2015 JEE MAIN संयुक्त प्रवेश परीक्षा

सोल्वड पेपर 2016 JEE MAIN

स्थिर चुम्बकत्व

स्थिर वैद्तिकी

स्थिर वैद्युतिकी

स्थिरचुम्बकत्व

JEE MAIN 2019 (APRIL & JANUARY ATTEMPT)

JEE MAIN सॉल्वड पेपर 2018

उष्मागतिकी व गैसों का अणुगति सिद्धान्त

गतिकी

द्रवों के गुण

परमाणवीय एवं नाभिकीय भौतिकी

यूनिट टेस्ट 3 (द्रव तथा ताप भौतिकी )

विद्युत चुम्बकीय प्रेरण

विद्युतचुम्बकीय तरंगे

वैद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव

पृथ्वी की त्रिज्या `6.4xx10^(6)` मी है। पृथ्वी-तल से 800 किमी की ऊँचाई पर गुरुत्वीय विभव तथा गुरुत्वीय क्षेत्र की तीव्रता ज्ञात कीजिए। `(g=10` मी/से`.^(2))`
एक 5 मीटर का लड़का 2 मीटर त्रिज्या के क्षैतिज व्रत में एक प्रथर को डोरी से बांधकर, एकसमान्य चाल से घुमा रहा है व्रत की स्पर्श रेखा के अनुदिश चलते हुवे पृथ्वी पर 10 मीटर की क्षितिज दुरी पर गिरता है वृतीय गति में पत्थर पर कार्यरत अभिक्रिया त्वरण का मान ज्ञात कीजिय ( g = 10 मीटर/सेकण्ड`""^2`)|
यदि एक वक्र बिंदु (1, -2) से होकर जाता है तथा इस पर किसी बिंदु (x, y) पर स्पर्श रेखा का ढाल (slope) `(x^(2) - 2y)/(x)` है, तो यह वक्र निम्न में से किस बिंदु से होकर जाता है ?
उन दो सरल रेखाओं के समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिन्दु (0,a) से होकर जाती है तथा जिन पर बिन्दु (2a,2a) से खींचे गए लम्बो की माप a है।
एक अतिपरवलय का केंद्र मूलबिंदु पर है तथा यह बिन्दु (4,2) से होकर जाता है और इसका अनुप्रस्थ (transverse) अक्ष X-अक्ष के अनुदिश है जिसकी लम्बाई 4 है तो इस अतिपरवलय की उत्केन्द्रता (eccentricity) है
किसी बेलन का अर्धव्यास 2 मी/से की दर से बढ़ता है और ऊँचाई 3 मी/से की दर से घटती है। जब उसकी ऊँचाई 5 मी और अर्धव्यास 3 मी हो, तो बेलन के आयतन के परिवर्तन की दर होगी
यह ज्ञात है की महाविद्यालय के छात्रों में से 60 % छात्रावास में रहते है और 40 % छात्रावास में नहीं रहते है । पूर्ववर्ती वर्ष से परिणाम सूचित करते है की छात्रावास में रहने वाले छात्रों में से30 % छात्रों में से 20 % छात्रों ने A ग्रेड लिए। वर्ष के अंत में महाविद्यालय के एक छात्र को यादृच्छया चुना गया और पाया गया की उसे A ग्रेड मिला है । इस बात की क्या प्रायिकता है की वह छात्रावास में रहने वाला है ?
निम्न को सुमेलित कीजिए <br> `{:("A" , "g के रेखीये परिवर्तन में " , "p" , "भारहीनता का अनुभव करता है "), ("B" , "g में ह्रास होने पर " , "q" , "भार बढ़ता है "), ("C" , "मूंगफली के भार में कमी होगी ", "r" , "जैसे-जैसे हम सतह से नीचे की और जाते है "),("D" , "पृथ्वी अपने अक्ष के परितः घूर्णन रोक देती है" , "s" , "जैसे-जैसे हम ध्रुव से उषणकटिबंधिये देश की और (नीचे की और) गति करते है "):}`
बिंदु P की बिंदु (4,3) से दूरी `sqrt(10)` है। बिंदु P के निर्देशांक ज्ञात कीजिए यदि इस की कोटि भुज से दुगुनी हो।
निम्नलिखित स्थितियों में एक चर बिंदु का बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए जिसकी <br>y- अक्ष से दूरी , उसकी मूलबिंदु से दूरी की आधी है ।
उस दीर्घवृत का समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिन्दुओ `(-3,1)` और `(2,-2)` से होकर जाता है तथा जिसका केंद्र मूलबिंदु पर है । उत्केंद्रता भी ज्ञात कीजिए ।
यदि वृत्त के केंद्र से 3 सेमी. की दूरी पर स्थित जीवा की लम्बाई 8 सेमी. है, तो वृत्त की त्रिज्या ज्ञात कीजिए।
रेखा `4x-3y + 2= 0` के समांतर रेखाएं खींची गई है जो मूलबिंदु `(3)/(5)` से की दुरी पर है, तो निम्न में से कौन-सा एक बिंदु इनमे से किसी रेखा पर स्थित है?
उस बिंदु का बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए <br> जिसकी x-अक्ष से दूरी उसकी y-अक्ष से दूरी की तीन गुनी है ।
एक द्विध्रुव 10 सेमी लम्बा तथा आवेश `500 muC` से बना है। इसके अक्ष से 25 सेमी दूरी पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता होगी

FAQs on गति के नियम एवं घर्षण

Concept Of Force

Classification Of Force

Inertial Frame Of Reference

NON-INERTIAL FRAME OF REFERENCE

NEWTON'S FIRST LAW OF MOTION

NEWTON'S SECOND LAW OF MOTION

NEWTON'S THIRD LAW OF MOTION

Concept Of Impulse

Weight

Normal Force

Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt