Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

`R=Omega` `C=35muF`

Updated On: 15-1-2020

This browser does not support the video element.

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - NCERT HINDI Class 12 प्रत्यावर्ती धारा

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - NCERT HINDI Class 12 PHYSICS

प्रकाश-परावर्तन तथा अपवर्तन

प्राकृतिक संसाधनों का संपोषित प्रबंधन

मानव नेत्र तथा रंगबिरंगा संसार

विघुत

विधुत धारा के चुंबकीय प्रभाव

अणुगति सिद्धांत

उष्मागतिकी

कणो के निकाय तथा घूर्णी गति

कार्य , ऊर्जा और शक्ति

गति के नियम

गुरुत्वाकषर्ण

ठोसों के यांत्रिक गुण

तरंगें

तरलों के यांत्रिकी गुण

दोलन

द्रव्य के तापीय गुण

भौतिक जगत

मात्रक एवं मापन

समतल में गति

सरल रेखा में गति

वैघुत आवेश तथा क्षेत्र

अर्धचालक इलेक्ट्रॉनिक - पदार्थ, युक्तियाँ तथा सरल परिपथ

किरण प्रकाशिकी एवं प्रकाशिक यन्त्र

गतिमान आवेश और चुंबकत्व

चुंबकत्व एव द्रव्य

तरंग-प्रकाशिकी

नाभिक

परमाणु

विकिरण तथा द्रव्य की द्वैत प्रकृति

विधुत धारा

वैधुतचंबकीय तरंगें

वैधुतचुंबकीय प्रेरण

स्थिरवैधुत विभव तथा धारिता

पौधो एवं जंतुओं का संरक्षण

अपशिष्ट जल की कहानी

अम्ल, क्षारक और लवण

ऊष्मा

कचरा - संग्रहण एवं निपटान

किशोरावस्था की ओर

कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

कोशिका - संरचना एवं प्रकार्य

गति एवं दूरियों का मापन

गति एवं समय

घर्षण

चंबकों द्वारा मनोरंजन

जंतुओं और पादप में परिवहन

जंतुओं में जनन

जल

तंतु के वस्त्र तक

तारें एवं सौर परिवार

दहन और ज्वाला

ध्वनि

पदार्थ : धातु और अधातु

पदार्थों का पृथक्करण

पवन, तूफान और चक्रवात

पादप में जनन

पादपों में पोषण

पौधों को जानिए

प्रकाश

प्रकाश - छायाएँ एवं परावर्तन

प्राणियों में पोषण

बल तथा दाब

भोजन : यह कहाँ से आता है ?

भोजन के घटक

भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन

मृदा

मौसम, जलवायु तथा जलवायु के अनुरूप जंतुओं द्वारा अनुकूलन

रेशों से वस्त्र तक

वन : हमारी जीवन रेखा

वस्तुओं के समूह बनाना

वायु तथा जल का प्रदुषण

विद्युत धारा और इसके प्रभाव

विधुत तथा परिपथ

विधुत धारा के रासायनिक प्रभाव

शरीर में गति

संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक

सजीव - विशेषताएँ एवं आवास

हमारे चरों ओर वायु

हमारे चारों ओर के परिवर्तन

कार्य तथा ऊर्जा

गति

गुरुत्वाकर्षण

ध्वनि

बल तथा गति के नियम


Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.
एक कुंडली को जिसका प्रेरण 0.50 तथा प्रतिरोध `100 Omega` है 240V व 50HZ की एक आपूर्ति से जोड़ा गया हैं | (a)कुंडली में अधिकतम धारा कितनी है? (b) वोल्टेज शीर्ष व् धारा शीर्ष के बीच समय-पश्चता कितनी है ? <br> यदि परिपथ को उच्च आवृत्ति की आपूर्ति ( 240 V , 10 kHz ) से जोड़ा जाता है तो अभ्यास 7.13 (a) तथा (b) के उत्तर निकालिए इसके इस कथन की व्याख्या कीजिए कि अति उच्च आवृत्ति पर किसी परिपथ में प्रेरक लगभग खुले परिपथ के तुल्य होता है स्थिर अवस्था के पश्चात किसी dc परिपथ में प्रेरक किस प्रकार का व्यवहार करता है
अभ्यास 7.3 व 7.4 में एक पूरे चक्र की अवधि में प्रत्येक परिपथ में कितने नेट शक्ति अवशोषित होती है ? अपने उत्तर का विवरण दीजिए | <br> 7.3 : एक 44mH का प्रेरित्र 220V, 50 Hz आपूर्ति से जोड़ा गया है , परिपथ में धारा के rms मान को ज्ञात कीजिये <br> 7.4 : एक 60`muF` का संधारित्र 110V, 60Hz , acआपूर्ति से जोड़ा गया है , परिपथ में धारा के rms मान को ज्ञात कीजिये
एक श्रेणी LCR परिपथ में `L=10.0H ,C=40 mu F` तथा `R=`60Omega` को 240V वोल्ट के परिवर्ती आवृत्ति के प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत से जोड़ा गया है । गणना कीजिए -(i ) स्त्रोत की कोणीय आवृत्ति जो परिपथ को अनुनाद की अवस्था में लाती है ,(ii ) अनुनादी आवृत्ति पर धारा , (iii ) प्रेरक के सिरों के बीच अनुनाद की दशा में वर्ग - माध्य - मूल विभव पतन ।
283 v शिखर वोल्टता एवं 50HZ आवृति की एक ज्यावक्रीय वोल्टता एक श्रेणी बद्ध LCR परिपथ से जुडी है जिसमे R= 3`Omega`, L= 25.48mH एवं C= 796`microfared` है| ज्ञात कीजिये (a) परिपथ की प्रतिबाधा (b) स्रोत के सिरों के बीच लगी वोल्टता एवं परिपथ में प्रवाहित होने वाली धारा के बीच कालान्तर (c) परिपथ में होने वाला शक्ति क्षय (d) शक्ति गुणांक <br> माना कि पूर्व उदाहरण में वर्णित स्रोत की आवर्ती परिवर्तनशील है|(a) स्रोत कि किसी आवृति पर अनुनाद होगा| (b) अनुनाद की अवस्था में प्रतिबाधा, का धारा एवं क्षयित शक्ति की गणना कीजिए|
एक व्यक्ति के एक कदम आगे चलने की प्रायिकता 0.4 तथा एक कदम पीछे हटने की प्रायिकता 0.6 है। इस बात की क्या प्रायिकता है की ग्यारह कदमो के पशचात वह व्यक्ति शुरुआती बिन्दु से एक कदम दूर है?
जब 'r` त्रिज्या का एक हवा का बुलबुला किसी झील की तली से सतह तक उठता है तो उसकी त्रिज्या 5r/4 हो जाती है (वायुमण्डलीय दाब जल स्तम्भ की 10 मीटर की ऊंचाई के बराबर है)। यदि ताप नियत है तथा पृष्ठ तनाव को उपेक्षणीय माना गया है, तो झील की गहराई है
एक घन के विकर्ण की लम्बाई `12sqrt(3)` सेमी है। घन के कोर की लम्बाई .............होगी।
यदि एक दीर्घवृत्त की दीर्घ अक्ष की लम्बाई, उसके लघु अक्ष की लम्बाई की तिगुनी है, तो उसकी उत्केन्द्रता होगी
एक बिंदु p को एक वृत्त के भीतरी भाग से यादृच्छिक रूप से चयन किया जाता है, तो वह, प्रायिकता क्या होगी जिससे यह वस्तुतः वृत्त की परिसीमा के नजदीक होने की बजाय वृत्त के केंद्र से अधिक नजदीक होगा।
एक आयत की भुजाओं की लम्बाईयाँ a और b है। यदि उसके एक शीर्ष को मुलबिन्दु तथा x- अक्ष को भुजा a के अनुदिश ले तो आयत की भुजाओं के समीकरण ज्ञात कीजिए।
यदि एक अतिपरवलय के संयुग्मी अक्ष (conjugate axis) की लम्बाई 5 है तथा इसकी नाभियो के बीच की दुरी 13 है, तो इस अतिपरवलय की उत्केंद्रता है
एक पास को 500 बार फेंकने पर परिणाम 2 आने की बारम्बारता 200 है। 2 की प्रायिकता क्या है ?
एक व्यक्ति के लक्ष्य भेदन की प्रायिकता `1/4` है। यह कम - से - कम कितनी बार गोली चलाए की लक्ष्य को कम से कम एक बार भेदने की प्रायिकता `2/3` से अधिक हो ?
एक अनभिनत पास को 6 बार उछाला जाता है। यदि एक समसंख्या प्राप्त करना एक सफलता है , तो <br> अधिक - से - अधिक 5 सफलताओ की प्रायिकता ज्ञात कीजिए।
एक परवलय की नाभि मूलबिंदु पर है तथा रेखा `x=2` परवलय की नियता है , तो परवलय का शीर्ष है
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt