Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

अभ्यास 7.3 व 7.4 में एक पूरे चक्र की अवधि में प्रत्येक परिपथ में कितने नेट शक्ति अवशोषित होती है ? अपने उत्तर का विवरण दीजिए | 7.3 : एक 44mH का प्रेरित्र 220V, 50 Hz आपूर्ति से जोड़ा गया है , परिपथ में धारा के rms मान को ज्ञात कीजिये 7.4 : एक 60`muF` का संधारित्र 110V, 60Hz , acआपूर्ति से जोड़ा गया है , परिपथ में धारा के rms मान को ज्ञात कीजिये

Updated On: 17-04-2022

This browser does not support the video element.


Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

अभ्यास 7.3 वसा 1094 में एक पूरे चक्र की अवधि में प्रत्येक परिपथ में कितने नेट शक्ति और शोषित होती है अपने उत्तर का विवरण दीजिए ठीक है तो हमें अभ्यास 710 नितिन दिया गया है 144 मिली है तरीका प्रेरित 220 वोल्ट 50,000 आवृत्ति से जुड़ा गए हैं परिपथ में धारा के रमेश मान ज्ञात कीजिए ठीक है उसी प्रकार अभ्यासा 1094 दिया गया है 17 माइक्रो फैरड का संधारित्र 110 वोल्टास एसी आवृत्ति से जोड़ा गया है परिपथ में धारा के अरमान का ज्ञात कीजिए ठीक है तो हमें यहां से क्या-क्या ज्ञात होता है कि 144 मिली है टीका प्रेरित रहे जिसको 220 वोल्ट और 50 वर्ड्स वृत्ति से क्या-क्या है जोड़ा गया है तू पहले देख लेते हैं साधु 3 के लिए उसमें क्या-क्या है 144 मिली हेनरी का पूरी तरह ठीक है तो योगेश वाली है

एक ट्रक तो ठीक है इसको क्या किया क्या किया गया है एक 220 वोल्टेज वाली आवृत्ति के स्वरों से जुड़ा गया ठीक है कुछ इस प्रकार से इस और इशरत का मानदेय गए 220 वोल्ट और 50 वर्ष है तथा यहां इस प्रकार का तो का मानदेय गया यह जगह 44 मिली है ट्रैफिक तथा हमें क्या करना है हमें ज्ञात करना है कि नेट शक्ति अवशोषित टिकट कितने सकते और शोषित होते हैं यह हमें ज्ञात करना है ठीक है तो हम जानते हैं कि प्रत्यावर्ती धारा परिपथ के लिए जो एक पूर्ण चक्र के लिए जो अवसर शक्ति अवसर शक्ति का मान होता है और शायद शक्ति एक पूर्ण चक्र के लिए उसे सकती थी बराबर ही होता है पीएम बराबर ही होता है बीआरएमएस * आईआरएमएस * 15 और यही होता है यह होता है

कोलकाता और धारा के बीच का कालांतर 25 हो गया वर्ल्ड टावर धारा के बीच का अंतर ठीक है तथा बीआरओ में सोता है यह होता है वोल्टेज का आर्मी सामान्य वर्ग माध्य मूल मान और आईआरएमएस होता है धारा का वर्ग माध्य मूल मान ठीक है तो मान लिया कि टीचर इस प्रपत्र में धारा प्रवाहित हो रही है ठीक है और इसका जो परिणाम यंत्र है वह भी ठीक है तो हम जानते हैं कि एक सूरत वाली परिपथ में क्या होता है जो हमारा प्रणाम इन गोल्ड होता होता है वह धारा से 90 डिग्री अग्रगामी होता है ठीक है तो इसका घर पर बनाएंगे तो वह कुछ इस प्रकार से होगा ठीक है मालिक यह धारा ठीक है तो क्या होगा वोल्टता धारा से 90 डिग्री अग्रगामी होगा कुछ इस प्रकार से ठीक है तो यह धारा तो यह हो जाएगा बता और बता क्या होगा धारा से 90 डिग्री अगर का में होगा ठीक है तो और भाई क्या है भाई है बताओ धारा के बीच का अंतर ठीक है तो यहां सफाई बराबर कितना हो जाएगा भाई बराबर यह हो जाएगा

90 अंश ठीक है ना भाई भाई तू ठीक है तो यहां से अवश्य शक्ति पी एवरेज बराबर लिखे तो कितना बजे तक बराबर लिखित में जगह * आईआरएमएस इनटू कॉस 90 टिकट और हम जानते हैं कि कॉस 90 का जो मान होता है वह होता है शुन्य होता है सुनती तो यहां से अवश्य शक्ति कितना जगह हो जाएगा बी आर एस गुड एस आई आर में गणित 01 है तू यहां से जो हमारा अवसर सकती या परिपथ का नेट शक्ति कितना बजेगा रिपत कनेक्ट सकती हो जाएगा ठीक है तू यहां से हमारा शक्ति कमर जो हमें प्रश्न में पूछा गया था ठीक है तो योगा 7.3 के लिए इसके लिए अभ्यास अब देख लेते हैं अभियान 7.4 के लिए तो इसमें क्या दे गए हैं दिया गया है शायद माइक्रो थ्रेड का संधारित्र 110 वोल्ट और साहसी आवृत्ति से जोड़ा गया

तो क्या बोला गया है सादर सादर समाचार में बोला गया है कि एक संधारित रहे ठीक है यह एक संधारित्र और संधारित्र का जो मान दिया गया है वह कितने तक मानदेय के साथ माइक्रो फैरड कुछ इस प्रकार से ठीक है तथा इसको एक एसी वोल्टेज स्रोत जिसको मान कितना देर है इसको मानदेय गए हैं 110 वोल्ट ठीक है कितना ठीक है 110 वोल्ट और जो अभी तक मानव कितना है वह जगह 60 वर्ष तक के साथ में क्या किए हैं जोड़ दी हट्टी 6038 को किस प्रकार से जुड़ती है और माल ले जा किसी थोड़ी सी परिपथ में धारा प्रवाहित हो रही है ठीक है तथा इसका परिणाम यंत्र है कितना हो जाएगा हो जाएगा ठीक है तो हम क्या क्या करने के लिए भूल गए प्रश्न में ज्ञात करने के लिए बोला क्या है नेट शक्ति अवशोषित ठीक है तो हम जानते के प्रत्यावर्ती धारा परिपथ के लिए अवसर शक्ति का मान कितना होता है होता है बेवरेज बराबर है

बीआरएमएस * आईआरएमएस * 15 ठीक है और यह क्या होता है यह वही होता है उल्टा और धारा के बीच का अंतर ठीक है तो हम जानते हैं कि एक शुद्ध धारिता वाले परिपथ में क्या होता है कि परिणामी विभांतर और धारा के बीच में जो कल अंतर होता है क्या होता है यानी कि क्या होता है कि धारा वोल्टेज से 90 डिग्री अग्रगामी होता है क्या होता है एक सूत्र धारिता वाला परिपथ में धारा परिपथ बनने वाली धारा कोलकाता से 90 डिग्री अग्रगामी होता है ठीक है तो उसका जरा अरे कुछ इस प्रकार से होगा ठीक है मान ली जाए यह है उल्टी ठीक है तो क्या होगा धारा इसे 90 डिग्री अगर काम होगा कुछ इस प्रकार से ठीक है तू यह वोल्टेज तो क्या गधा राइस से 90 डिग्री अग्रगामी होगा कुछ इस प्रकार से ठीक है यह क्या है या 90 डिग्री अग्रगामी है यहां से देखे तो कि

धर्मपुत्र से 90 डिग्री अग्रगामी ठीक है यानी कि कालांतर का मान कितना है हाईकमान है यहां से देखें तो कितना है यह 90 डिग्री ठीक है तो यहां से इस पद के लिए 2 शक्ति का मन हो जाएगा कितना जगह भी आ रमेश * आईआरएमएस इनटू योर जगह 90 प्लस 90 का मान होता है सुनने टिकट तो यहां से पिए ब्रिज कमान हो जाएगा कितना लेगा सुनना ठीक है क्योंकि क्या होता है और 90 का मान होता है होता है सोने ठीक है तो इस परिपथ के लिए जो हमारे साथी को मानेगा 500 वाट उसी प्रकार

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - NCERT HINDI Class 12 प्रत्यावर्ती धारा

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - NCERT HINDI Class 12 PHYSICS
एक कुंडली को जिसका प्रेरण 0.50 तथा प्रतिरोध `100 Omega` है 240V व 50HZ की एक आपूर्ति से जोड़ा गया हैं | (a)कुंडली में अधिकतम धारा कितनी है? (b) वोल्टेज शीर्ष व् धारा शीर्ष के बीच समय-पश्चता कितनी है ? <br> यदि परिपथ को उच्च आवृत्ति की आपूर्ति ( 240 V , 10 kHz ) से जोड़ा जाता है तो अभ्यास 7.13 (a) तथा (b) के उत्तर निकालिए इसके इस कथन की व्याख्या कीजिए कि अति उच्च आवृत्ति पर किसी परिपथ में प्रेरक लगभग खुले परिपथ के तुल्य होता है स्थिर अवस्था के पश्चात किसी dc परिपथ में प्रेरक किस प्रकार का व्यवहार करता है
एक श्रेणीबद्ध LCR परिपथ को जिसमें `R=Omega` , L=1.5H तथा `C=35muF` एक परिवर्ती आवृत्ति की 200 V ac आपूर्ति से जोड़ा गया है जब आपूर्ति की आकृति परिपथ की मूल आवृत्ति के बराबर होती है तो एक पूरे चक्कर में परिपथ को स्थानांतरित की गई मातृशक्ति कितनी होगी?
निम्नलिखित कथनो में से सत्य असत्य लिखिए और अपने उत्तर का औचित्य भी दीजिए। <br> किसी रेखा से समान दूरी पर स्तिथ बिन्दुओ का समुच्चय एक रेखा होती है।
223422139
`E_("rms") = 100 वोल्ट का वि. वा. बल एक LCR श्रेणी परिपथ में लगाया गया है। यदि परिपथ में प्रेरणिक प्रतिघात, धारितीय प्रतिघात तथा प्रतिरोध के मान क्रमशः 4 ओम, 12 ओम तथा 6 ओम हों तो परिपथ के लिए निम्न का मान ज्ञात कीजिए- <br> वाट-हीन धारा का वर्ग माध्य मूल मान।
यह ज्ञात है की महाविद्यालय के छात्रों में से 60 % छात्रावास में रहते है और 40 % छात्रावास में नहीं रहते है । पूर्ववर्ती वर्ष से परिणाम सूचित करते है की छात्रावास में रहने वाले छात्रों में से30 % छात्रों में से 20 % छात्रों ने A ग्रेड लिए। वर्ष के अंत में महाविद्यालय के एक छात्र को यादृच्छया चुना गया और पाया गया की उसे A ग्रेड मिला है । इस बात की क्या प्रायिकता है की वह छात्रावास में रहने वाला है ?
निचे दिये गये ग्राफ में दो प्रकार के वाहनों A व B के छ वर्षो के प्रदूषण का आंकड़ा दिया गया है ।A घरेलू वाहनों तथा B व्यावसायिक वाहनों को दर्शाता है ,तो ग्राफ का अध्ययन क्र आगे दिये गये प्रशनो के उत्तर दीजिए|<br> दिये गये वर्षो में से कितने वर्षो में B का प्रदूषण A के प्रदूषण से कम रहा है ?<br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/SNJ_SPG_HIN_MAT_X_C20_E02_008_Q01.png" width="80%">
निचे दिये गये ग्राफ में दो प्रकार के वाहनों A व B के छ वर्षो के प्रदूषण का आंकड़ा दिया गया है ।A घरेलू वाहनों तथा B व्यावसायिक वाहनों को दर्शाता है ,तो ग्राफ का अध्ययन क्र आगे दिये गये प्रशनो के उत्तर दीजिए|<br> दिये गये वर्षो में से कितने वर्षो में B का प्रदूषण A के प्रदूषण से कम रहा है ?<br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/SNJ_SPG_HIN_MAT_X_C20_E02_008_Q01.png" width="80%">
223422134
`E_("rms") = 100 वोल्ट का वि. वा. बल एक LCR श्रेणी परिपथ में लगाया गया है। यदि परिपथ में प्रेरणिक प्रतिघात, धारितीय प्रतिघात तथा प्रतिरोध के मान क्रमशः 4 ओम, 12 ओम तथा 6 ओम हों तो परिपथ के लिए निम्न का मान ज्ञात कीजिए- <br> शक्ति गुणांक
223422137
`E_("rms") = 100 वोल्ट का वि. वा. बल एक LCR श्रेणी परिपथ में लगाया गया है। यदि परिपथ में प्रेरणिक प्रतिघात, धारितीय प्रतिघात तथा प्रतिरोध के मान क्रमशः 4 ओम, 12 ओम तथा 6 ओम हों तो परिपथ के लिए निम्न का मान ज्ञात कीजिए- <br> औसत शक्ति
ताश के 52 पत्तो की एक सुनिश्चित गड्डी में से एक पत्ता यदृच्छया निकाला जाता है | यदि <br> E : निकाला गया पत्ता हुकुम का है | <br> F : निकाला गया पत्ता इक्का है , तो E तथा F घटनाएँ है -
उस बड़े से बड़े गोले का आयतन ज्ञात कीजिए, जो उस घन में से काटा गया जिसकी एक भुजा की लम्बाई 4 सेमी है।
283 v शिखर वोल्टता एवं 50HZ आवृति की एक ज्यावक्रीय वोल्टता एक श्रेणी बद्ध LCR परिपथ से जुडी है जिसमे R= 3`Omega`, L= 25.48mH एवं C= 796`microfared` है| ज्ञात कीजिये (a) परिपथ की प्रतिबाधा (b) स्रोत के सिरों के बीच लगी वोल्टता एवं परिपथ में प्रवाहित होने वाली धारा के बीच कालान्तर (c) परिपथ में होने वाला शक्ति क्षय (d) शक्ति गुणांक <br> माना कि पूर्व उदाहरण में वर्णित स्रोत की आवर्ती परिवर्तनशील है|(a) स्रोत कि किसी आवृति पर अनुनाद होगा| (b) अनुनाद की अवस्था में प्रतिबाधा, का धारा एवं क्षयित शक्ति की गणना कीजिए|
223422132
`E_("rms") = 100 वोल्ट का वि. वा. बल एक LCR श्रेणी परिपथ में लगाया गया है। यदि परिपथ में प्रेरणिक प्रतिघात, धारितीय प्रतिघात तथा प्रतिरोध के मान क्रमशः 4 ओम, 12 ओम तथा 6 ओम हों तो परिपथ के लिए निम्न का मान ज्ञात कीजिए- <br> प्रतिबाधा
कॉलम - I में कुछ निश्चित स्थितियां दी गई है जिनमे प्रतिरोध का सीधा धात्विक तार प्रयुक्त किया है तथा कॉलम - II में कुछ परिणामी प्रभाव दिए है कॉलम - I के कथनो को कॉलम - II के कथनो से सुलमित कीजिए <br> `{:(,"कॉलम - I",," कॉलम - II"),((A),"एक आवेशित संधारित्र को तार के सिरों से जोड़ा गया है",(p)," एक नियत धारा तार में से प्रवाहित होती है"),((B),"तार को इसकी लम्बाई के लम्बवत नियत वेग से एक समान चुम्बकीय क्षेत्र में गतिमान किया जाता है चुम्बकीय क्षेत्र गति के तल के लम्बवत है",(q),"उष्मीय ऊर्जा तार में उत्पन्न होती है"),((C),"तार को नियत विधुत क्षेत्र में रखा जाता है जिसकी दिशा तार की लम्बाई के अनुदिश है",(r),"तार के सिरों पर एक नियत विभवान्तर उत्पन्न होता है"),((D),"तार के सिरों पर एक नियत वि. वा. बल. की बैट्री जोड़ी जाती है",(s),"तार के सिरों का नियत परिमाण का आवेश उपस्थित होता है"):}`
एक श्रेणी LCR परिपथ में `L=10.0H ,C=40 mu F` तथा `R=`60Omega` को 240V वोल्ट के परिवर्ती आवृत्ति के प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत से जोड़ा गया है । गणना कीजिए -(i ) स्त्रोत की कोणीय आवृत्ति जो परिपथ को अनुनाद की अवस्था में लाती है ,(ii ) अनुनादी आवृत्ति पर धारा , (iii ) प्रेरक के सिरों के बीच अनुनाद की दशा में वर्ग - माध्य - मूल विभव पतन ।
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt