Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

एक पिण्ड आयाम A की सरल आवर्त गति करता है। संतुलन अवस्था से कितनी दूरी पर ऊर्जा, स्थितिज और गतिज में बराबर-बराबर बँट जायेगी?

Updated On: 17-04-2022

This browser does not support the video element.


लिखित उत्तर

Open Answer in App

Solution

माना जब विस्थापन y है तो दोनों ऊर्जा समान हैं। अतः गतिज ऊर्जा = स्थितिज ऊर्जा<br>

=

<br>

<br>

<br>

<br>

<br> y =

=

A

Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

हमारा प्रश्न है एक पिंड आया एक ही सरल आवर्त गति करता है संतुलित अवस्था से कितनी दूरी पर उड़ जा उड़ जा स्थिति से अवगत इसमें बराबर बराबर बढ़ जाएगी क्वेश्चन में यह बोल रहा है कि अगर किसी कोई कर्जा सरल आवर्त गति का आया है तो मां कितनी दूरी पर यहां पर पूछा कि मां की स्थिति से जुड़े संतुलन अवस्था से कितनी दूरी पर हमारी कुल ऊर्जा बढ़ जाएगी तू सोती विस्थापन पर जो उसकी स्थिति ऊर्जा गतिज ऊर्जा और बराबर बराबर बैठ जाएगी बराबर बराबर बराबर बैठने का यह मतलब है स्थितिज ऊर्जा और गतिज ऊर्जा बराबर हो जाएगी तो यहां पर इस बिंदु पर हमारी स्थितिज ऊर्जा गतिज ऊर्जा के बराबर हो जाएगी और विस्थापन के रूप में क्या होता है वन बाय टू मेक अ स्क्वायर बराबर होता का फार्मूला

और जो विस्थापन के रूप में ओमेगा स्क्वायर स्क्वायर माइनस वाइस कार के बराबर होता है तो यहां से टू इनवाइट कर के बराबर हो गए दोनों आपस में कैंसिल हो जाएंगे क्योंकि उनका भी ध्यान होगा और कर्ण की जो आवृत्ति होगी वह भी फिक्स होगी यहां से वॉइस कर बराबर हो जाएगा मारा एस माइनस वाई बराबर अब इसके बाद हम क्या करेंगे इस तरफ लाएंगे यहां से लेफ्ट साइड पर लाएंगे तेज कर के बराबर हो जाएगा यहां से भराएगा प्लस माइनस डिवाइड एंड रूल के बराबर आएगा दोनों तरफ हमने वर्गमूल ले लिया यहां से हवाई = प्लस माइनस अंडर रूट 2 के बराबर हो गया यहां से हवाई की वैल्यू कितनी आएगी प्लस माइनस जीरो पॉइंट 7071 के बराबर ओके जी हमारा क्या हो जाएगा टेंशन हो जाएगा ओके थैंक यू

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - SANJEEV PUBLICATION Class 11 दोलन

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - SANJEEV PUBLICATION Class 11 PHYSICS
उस बिंदु का बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए जिसकी बिंदुओं (2, 3) और (4, 5) से दूरी सदैव बराबर रहती है ।
उस सरल रेखा का समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिन्दु (3,-4) से होकर जाती है और अक्षों से बराबर परन्तु विपरीत चिन्हो के अन्तः खण्ड काटती है ।
दीर्घवृत्त `(x^(2))/(36)+(y^(2))/(9)=1` की जीवा का समीकरण, जोकि बिन्दु (2, 1) से जाती है, तथा यह बिन्दु जीवा को दो बराबर-बराबर भागों में विभाजित करता है, होगा
निम्नलिखित कथनो में से सत्य असत्य लिखिए और अपने उत्तर का औचित्य भी दीजिए। <br> किसी रेखा से समान दूरी पर स्तिथ बिन्दुओ का समुच्चय एक रेखा होती है।
उस सरल रेखाओ के समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिंदु `(2,1)`से जाती है तथा रेखाओ `4x-3y-5=0` और `5x-12y+3=0` से बराबर कोण पर झुकी है
एक बिंदु इस प्रकार गमन करता है कि उसकी बिंदु `(3, 4) ` से दुरी बिंदु `(-3, -4)` से उसकी दूरी की तिगुनी रहती है । उसका बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए ।
दो वृत्तों, जिनकी त्रिज्याएँ क्रमशः सेमी `1.7` और `2.8` सेमी की है, की एक उभयनिष्ठ तिर्यक स्पर्श रेखा की रचना कीजिए जबकि दोनों के केंद्र एक दूसरे से `6` सेमी दूरी पर है।
दो वृत्तों, जिनकी त्रिज्याएँ क्रमशः सेमी `1.7` और `2.8` सेमी की है ,की एक उभयनिष्ठ तिर्यक स्पर्श रेखा की रचना कीजिए जबकि दोनों के केंद्र एक दूसरे से `6 ` सेमी दूरी पर है।
निम्नलिखित स्थितियों में एक चर बिंदु का बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए जिसकी <br>y- अक्ष से दूरी , उसकी मूलबिंदु से दूरी की आधी है ।
यदि किसी धातु पर जिसका कार्य-फलन (work function) `verphi है, आपतित प्रकाश की आवृत्ति v है, तो उत्सर्जित फोटोइलेक्ट्रॉन की महत्तम गतिज ऊर्जा E जिस संबंध से प्राप्त होती है, वह है।
एक श्रेणीबद्ध LCR परिपथ को जिसमें `R=Omega` , L=1.5H तथा `C=35muF` एक परिवर्ती आवृत्ति की 200 V ac आपूर्ति से जोड़ा गया है जब आपूर्ति की आकृति परिपथ की मूल आवृत्ति के बराबर होती है तो एक पूरे चक्कर में परिपथ को स्थानांतरित की गई मातृशक्ति कितनी होगी?
एक अतिपरवलय बिन्दुओं (3,2) तथा (-17,12) से गुजरता है और उसका केंद्र मूलबिन्दु पर है तथा अनुप्रस्थ अक्ष x- अक्ष है। अतिपरवलय की अनुप्रस्थ अक्ष की लम्बाई है।
सिद्ध कीजिए की किसी विषम पदों वाली समांतर श्रेढ़ी का योगफल श्रेढ़ी में माढ्य पद और पदों की संख्या के गुणगंफल के बराबर होता है |
माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि `AP=2AB` यदि `angleBPC=beta` है, तो `tanbeta` बराबर है
निम्न को सुमेलित कीजिए <br> `{:("A" , "g के रेखीये परिवर्तन में " , "p" , "भारहीनता का अनुभव करता है "), ("B" , "g में ह्रास होने पर " , "q" , "भार बढ़ता है "), ("C" , "मूंगफली के भार में कमी होगी ", "r" , "जैसे-जैसे हम सतह से नीचे की और जाते है "),("D" , "पृथ्वी अपने अक्ष के परितः घूर्णन रोक देती है" , "s" , "जैसे-जैसे हम ध्रुव से उषणकटिबंधिये देश की और (नीचे की और) गति करते है "):}`

FAQs on दोलन

Periodic Motion

Oscillations

Periodic Function

Definition Of Shm

Amplitude

Time Period Or Period Of Oscillation

Angular Frequency

Equation Of Shm

Motion Of An Object Attached To A Spring

Velocity And Acceleration In Shm

Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt