Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

माना कि `f : (0, oo) rarr R` एक अवकलनीय फलन इस प्रकार है कि `f'(x) = 2- (f(x))/(x)` सभी `x in (0, oo)` तथा `f(1) != 1` के लिए । तो : (a) `underset(x rarr 0^(+)) f' ((1)/(x)) = 1` (b) `underset(x rarr 0^(+)) lim xf((1)/(2)) = 2` (c) `underset(x rarr 0^(+))lim x^(2) f'(x) = 0` (d) `|f(x)| le 2` सभी `x in (0, 2)` के लिए

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - RAJEEV BANSAL Class 12 अवकलनीयता

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - RAJEEV BANSAL Class 12 MATHS

अनिश्चित समाकलन

अवकल समीकरणों के अनुप्रयोग

अवकलज के अनुप्रयोग

आव्यूह

आव्यूह के सहखण्डज और प्रतिलोम

उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ

दो रेखाओं के बीच का कोण

दो सदिशों का अदिश गुणनफल

दो सदिशों का अदिश गुणनफल [SCALAR OR DOT PRODUCT OF TWO VECTORS]

दो सदिशों का सदिश गुणनफल

द्वितीय कोटि का अवकलज

निश्चित समाकलन

प्रायिकता

फलन

यादृच्छिक चर तथा प्रायिकता बंटन

रैखिक प्रोग्रामन

रैखिक समीकरणों के निकाय का हल

रोले की प्रमेय तथा लग्रांज की माध्यमान प्रमेय

सदिश

सन्निकटन

समतल

सम्बन्ध

सरल रेखा

सांतत्य

सारणिक

स्पर्श रेखा और अभिलम्ब

अनिश्चित समाकलन

अवकल समीकरणों के अनुप्रयोग

अवकलज के अनुप्रयोग

अवकलनीयता

आव्यूह

आव्यूह के सहखण्डज और प्रतिलोम

उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ

दो रेखाओं के बीच का कोण

दो सदिशों का अदिश गुणनफल

दो सदिशों का अदिश गुणनफल [SCALAR OR DOT PRODUCT OF TWO VECTORS]

दो सदिशों का सदिश गुणनफल

द्वितीय कोटि का अवकलज

निश्चित समाकलन

प्रायिकता

फलन

यादृच्छिक चर तथा प्रायिकता बंटन

रैखिक प्रोग्रामन

रैखिक समीकरणों के निकाय का हल

रोले की प्रमेय तथा लग्रांज की माध्यमान प्रमेय

सदिश

सन्निकटन

समतल

सम्बन्ध

सरल रेखा

सांतत्य

सारणिक

स्पर्श रेखा और अभिलम्ब


Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

लिखित उत्तर

Open Answer in App

Answer

फलन (0, 2) में बाध्य नहीं है।

यदि `f(x) = (ax+b)/(x+1),lim_(x rarr 0) f(x) = 2` तथा `lim_(x rarr oo) f(x) = 1`, तो सिद्ध कीजिए `f(-2) = 0`
माना एक फलन `f: (0, oo) to (0, oo) f(x)=|1-(1)/(x)|` द्वारा परिभाषित है, तो f
माना f एक ऐसा अवकलनीय फलन है, कि `f'(x) = 7-(3f (x))/(4x), (x gt 0)` तथा `f(1) ne 4` है, तो `underset(x rarr 0^(+))(lim) xf ((1)/(x))`
माना `f: R rarr R` एक अवकलनीय फलन है जो कि `f'(3) + f'(2) = 0` को संतुष्ट करता है, तो `underset(x rarr 0)(lim) ((1 + f(3 +x) -f(3))/(1+ f(2-x) -f(2)))^((1)/(x))` बराबर है
यदि f(x)=`{{:(ax^(2)+b,xlt0),(bx+a,0 le x le1),(bx^(3)+a,xgt1):}` <br> तो a और b के पूर्णांक मान ज्ञात करे ताकि `underset(x rarr0) lim f(x)` और `underset(x rarr 1) lim f(x)` दोनों प्राप्त हो
यदि f(x)=|x|-5 हो तो संभव होने पर `underset(x rarr 0) lim f(x)` और `underset(x rarr 5) lim f(x)` ज्ञात कीजिये
यदि `f(x) = 4x^(2) - 5x`, तो `underset(h rarr 0)lim (f(x+h)-f(x))/(h)` का मान निकालिए।
यदि `f(x) = {{:((x)/(|x|+x^(2))",",x ne 0),(0",",x = 0):}` तो सिध्द कीजिए कि `lim_(x rarr 0) f(x)` का अस्तित्व नहीं है ।
निम्नलिखित की सीमा निकालों <br> `underset( x rarr 0)("lim")(root(3)(x+2)-2^(1//3))/(x)`
यदि `f(x) = {{:(1",",x lt 0),(-1",",x gt 0):}` तो सिध्द कीजिए कि `lim_(x rarr 0) f(x)` का अस्तित्व नहीं है ।
यदि `f : [0, oo) rarr [2, oo), f(x) = x^(2) + 2 AA, x in R` द्वारा परिभाषित है, तो `f^(-1)` निकालें।
`underset(x rarr 0)(lim) (sin^(2) x)/(sqrt2 -sqrt(1 + cos x))` बराबर है
152620589
`underset(x rarr 0) lim (x tan 2x-2xtan x)/(1- cos 2x)^(2)`
`underset(x rarr 0)(lim) (x cot (4x))/(sin^(2) x cot^(2) (2x))` बराबर है
अवकलनीय फलन f, के लिए `lim_(h rarr 0) ([f(x+h)]^(2)-[f(x)]^(2))/(2h)` का मान-
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt