Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

फलन `f(x)` निम्नलिखित रूप में परिभाषित है । `f(x)=x+pi/6 sqrt(x) sin x, 0 le x lt pi/4` `2 cot x - pi/12, pi/4 le x le pi/2` `pi/6 cos 2x + pi/12 sin x, pi/2 lt x le pi`. बंद अंतराल `[0, pi]` में `f(x)` की संततता की जाँच कीजिए ।

Updated On: 17-04-2022

This browser does not support the video element.


लिखित उत्तर

Open Answer in App

Answer

को छोड़कर बंद अंतराल

के सभी बिंदुओं पर

संतत है ।

Answer

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

दिए हुए प्रश्न में हमें फलन ऐप कि बंद अंतराल जीरो से पाइप पर सत्यता की जांच करनी है तो जो हमारा एक जीवन है वह है पहले इसका मान लिख लेते हैं 1 + 5 बटा से वर्गमूल साईनाथ कब जब एक है जीरो से 5 बटे चार तक उसके बाद जब एक 5 बटे चार से पांच बटे दो तक है तब फलन का मान है दो कॉर्टेक्स घटा पाई बटा 12 और जब हमारा एक पाई बटे दो से

पांच तक है तब पलंग का मान है भाई बैठे थे कोर 2 एक्स + 5 बटे 12 साल की तो हमें जानना है कि हमारा फलन संतत है कि नहीं जीरो से 5:00 पर बंद अंतराल पर इस को जांचने के लिए हमें हर एक बिंदु पर जांच ना होगा कि हमारा फलन सतत है या नहीं सबसे पहले जानते हैं कि सतत होने की परिभाषा क्या होती है फलन की स्वतंत्रता अगर किसी एक बिंदु पर जांच नहीं होती है तो इसका मतलब है कि बाय सीमा दायमा और फलन का पेपर मान अगर यह तीनों बराबर होते हैं तो हम बोलते हैं कि फलन है

सतत सतत हमें सिर्फ उन्हीं बिंदु पर जांचने की जरूरत होती है जहां पर उनका मान अलग हो जैसे यहां पर हमेशा तत्पर जानी है 5 बटा 4 और 5 बटा दो पर उसके अलावा जीरो से पाइप पर हमारा फलन संतत तो पहले ले लेते हैं एक बटे चार और देखते हैं कि बाय सीमा क्या है यह हो जाएगी लिमिटेड जब जा रहा है पाई बटे चार पर बाई तरफ से बाई तरफ से जाने का मतलब होता है जब एक्स का मान पाई बटे चार से कम होता है तब हम लेंगे हमारा फलन कमान यह वाला यानी एक्स + 5 बटे थे वर्गमूल एक साइन किया जाएगा 5 बटा

4 + 5 बटे 6 वर्गमूल पाई बटे चार साइन पाई बटे चार बार आएगा 5 बटा 4 + 5 बटा 6 वर्ग मूल पाई बटे चार गुना एक बटे दो अब निकाल लेते हैं अदाएं सीमा इसमें आएगा लिमिट जब पाई बटे चार पर दाएं तरफ से आ रहा है दाएं तरफ से आने पर फलन का मान है यानी दो को टैक्स - 5 बटा 12 अब यहां भी सीधा सीधा मान रख देंगे यह आएगा 2.5 बटे चार घटा पाई बटे बार और यह माल आएगा 2 - 5 बटा 12 क्योंकि

कोर्ट बटे चार कमान एक होता है इसलिए जहां पर हमारी दादी मां चुकी है 2 - 2 - 5 बटा 12 दाई और बाई सीमा क्योंकि बराबर नहीं आई जब एक स्पाई बटे चार है तो तो इसीलिए हमारा फलन एक्स बटे चार पर संसद नहीं होगा अब यदि में एक्स की बात करूं पाई बटे दो पर तो हमारा फलन है पहले निकाल लेते हैं भाई सीमा यह हो जाए जब एक्स जा रहा है 5 बटे दो पर बाएं तरफ से तो हमारे फलन का मान हम लेंगे दो कॉर्टेक्स बटा 5 बटा 12 इसका माल आएगा सीधे-सीधे हम इसमें मान रख रहे हैं कोर्ट पाई बटे 2 - 5 बटा

12 और 5 बटा 2 का मान होता है सोने तो यहां आ गए हमारे भाई सीमा - 5 बटा 12 अब निकाल लेते हैं अदाएं सीमा यहां आएगा लिमिट जब जा रहा है 5 बटे दो के तरह वह भी दाएं तरफ से इस वक्त फलन का मान हमें लेना होगा फाइबर्टेक्स एक और 2 एक्स + 5 बटे 12 मिनट सीधा सीधा एक समान अगर हम यहां हमें मिलेगा पाई बटरस्कॉच पाई का मान होता है - 1 + 5 बटे साइंस फाइबर टू का मान होता है एक तो यहां से हमें हमारा उत्तर मिल जाएगा - 5 बटे से जमा पाई बटे 12 यहां से भी आ जाएगा - 5 बटा 12 दोनों तरफ दाएं सीमा और भाई सीमा बराबर आई हैं इसीलिए की डाई सीमा और बाएं सीमा बराबर आ गई हैं और

अगर मैं फलन का मान निकाले तो वह भी इसी के बराबर आएगा ठीक है क्योंकि जो हमारा फलन है वह पाई बटे दो पर हमारे भाई सीमा के ही बराबर है इसीलिए क्योंकि यह तीनों आपस में बराबर हो गए हमारा फलन संतत हो गया जब हमारा एक सामान वाली बटे दो है तो यहां से हमें सिर्फ और सिर्फ एक समस्या आई जब हमारा एक पाई बटे चार है तब फलन संतत नहीं आया यहां से हमने यह ताकि हमारा फलन जीरो से पाइप पर संसद नहीं है क्योंकि एक बिंदु ऐसा मिल गया जिस पर हमारा फलन संतत नहीं आया यानी एक्स का मान 5 बटा 4 के अलावा कुछ भी रखेंगे तो हमारा फलन संतत आ जाएगा

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - DAS GUPTA Class 12 संततता एवं अवकलनीयता

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - DAS GUPTA Class 12 MATHS

MISCELLANEOUS OBJECTIVE QUESTIONS

TRIGONOMETRY

`(dy)/(dx)` का प्रयोग

अदिश एवं सदिश त्रिक गुणनफल

अवकल समीकरण की रचना

आव्यूह या मैट्रिक्स

उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ मान

कुछ परिमेय एवं अपरिमेय फलन का समाकलन

क्षेत्रफल-निर्णायक के रूप में निश्चित समाकलन

तल ( अथवा समतल )

त्रिभुज

दिक्कोज्याएँ

दो सदिशों का अदिश (या बिंदु) गुणन

दो सदिशों का सदिश (या व्रज) गुणन

द्विचर संक्रियाएँ

द्विपद बंटन

निश्चित समाकलन की संकल्पना

परिभाषाएँ, सदिशों के योग, एकतलिय एवं नैकतलिय सदिश

परिशिष्ट 1: गणित में उपपत्तियाँ

परिशिष्ट 2 ( गणितीय मिदर्शन (या प्रतिरूपण) की रुपरेखा )

प्रायिकता

फलन के फलन , प्रतिलोम फलन एंव अस्पष्ट फलन का अवकलन

बहुवैकल्पिक प्रश्न अधिकोष

बेज - प्रमेय

याद्द्च्छिक चर और उसके प्रायिक्ता बटन

यौगिक और प्रतिबंधी प्रायिकता

रैखिक प्रोग्रामन

रोले का साध्य एवं लैग्रांजे का मध्य मान सांध्य

लघुतम दूरी (अथवा निम्नतम दूरी)

श्रेणी के योगफल की सीमा के रूप में निश्चित समाकलन

संबंध और फलन

समाकलन की विधियाँ

समाकलन की परिभाषा एवं मानक सूत्र

सरल रेखा ( समष्टि में )

सारणिक

हीरोन का सूत्र और इसका प्रयोग

फलन `f(x)={:{(x+asqrt(2)sinx",",0 le x ltpi/4),(2x cot x +b",",pi/4 le x lt pi/2),(a cos 2x-bsin x",",pi/2 le x le pi):}` अंतराल `[0,pi]` में सतत है । <br> b का मान ज्ञात कीजिए ।
फलन `f(x)={:{(x+asqrt(2)sinx",",0 le x ltpi/4),(2x cot x +b",",pi/4 le x lt pi/2),(a cos 2x-bsin x",",pi/2 le x le pi):}` अंतराल `[0,pi]` में सतत है । <br> a का मान ज्ञात कीजिए
यदि `f(x)= {(-x-(pi)/(2)",",x le -(pi)/(2)),(-cos x,-(pi)/(2) lt x le 0),(x-1,0 lt x le 1),(ln x,x gt 1):}` हो, तब-
यदि `f(x)={(-x-pi/2,,x le -pi/2),(-cos x,,-pi/2 lt x le 0","),(x-1,0 lt x le 1):}` तब-
a और b के वे मान ज्ञात कीजिए, जिनके लिए फलन `f(x) = {{:(x+a sqrt(2) sin x,0 le x le pi//4),(2x cot x + b,(pi)/(4) le x le (pi)/(2)),(a cos 2x - b sin x,(pi)/(2) lt x le pi):}0 le x le pi` में सतत है |
a तथा b के मानो को ज्ञात कीजिए जबकि `f(x)={{:(x+a sqrt(2) sin x",","यदि",0 le x lt (pi)/(4)),(2 x cot x + b",","यदि",(pi)/(4) le x lt (pi)/(2)),(a cos 2 x - b sin x",","यदि",(pi)/(2) le x le pi):}` द्वारा परिभाषित फलन अंतराल `[0, pi]` में एक संतत फलन है ।
निम्नलिखित फलनों के स्थानीय उच्चतम और निम्नतम बिंदुएं यदि कोई हो तो निकालें स्थानीय उच्चतम और निम्नतम मान भी निकालें| ltBrgt `(i)f(x) =sin 2x -x ,(pi)/(2) le x le (pi)/(2)` <br> ` f(x) =2sin x -x ,(pi)/(2) le x le (pi)/(2)` <br> ` f(x) =sin x(1+cos ), 0lexle (pi)/(2)` <br> <br> `(iv) f(x)sin x+ cos ,0lt xlt (pi)/(2)` <br> ` (v)f(x) =sin x -cos x,0lt x lt 2pi ` <br> ` (vi) f(x) =sin 2x+ 5 ,0lt x lt pi`
एक फलन `f(x)` अधोलिखित विधि से परिभाषित है । <br> `f(x)=1+sin x`, जब ` 0 le x lt pi/2` एवं <br> `f(x)=2+(x- pi/2)^(2)`, जब `pi/2 le x lt oo`. इसकी अवकलनीयता का परीक्षण बिंदु `x=pi/2` पर कीजिए ।
दर्शाइए की `f(x)=x - cos x,` अन्तराल `- pi/2 lt x le pi/2` में निरंतर वर्धमान है |
फलन `f(x)={{:(x sinx",", 0ltx le(pi)/(2)),((pi)/(2)sin(pi+x)",", (pi)/(2)lt xlt pi):}` का बिंदु `x=(pi)/(2)` पर सांतत्य का परीक्षण कीजिए ।
a तथा b के मान ज्ञात कीजिये यदि दिया गया फलन दिए गए अंतराल में सतत हो - <br> `f(x) = {{:(x + 2asinx",", 0 le xle pi//3),(2sqrt3 cotx +b",", pi//3le x le pi//2), (a cos ^(2)x- b sin x",", pi//2 le x le pi):}`
निम्न फलनों के लिए रोले प्रमेय का सत्यापन कीजिए- <br> (a) `f(x)= sin x+cos x, x in [0, pi/2]` <br> (b) `f(x) =sin^(2)x, 0 le x le pi`.
`0 le x le pi` के लिए फलन `f(x)=cos x` ........... है ।
वह क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए , जो `x`-अक्ष तथा `y=tan x, - pi/3 le x le pi//3` तथा `y=cot x, pi/6 le x le pi//2` द्वारा परिभाषित वक्रों द्वारा घिरा हुआ है।
यदि `sin x=(3)/(5), cosy=-(12)/(13)` जहाँ `(pi)/(2) lt x le pi` तथा `(pi)/(2) lt y lt pi` तो सिद्ध कीजिए `sin(x+y)=-(56)/(65)`
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt