Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

दर्शाई की फलन `f:NtoN` जो की `f(x)={{:("x+1,","यदि x विषम है"),("x-1,","यदि x सम है"):}` से परिभाषित है एकेकी व् आच्छादक है


लिखित उत्तर

Open Answer in App

Solution

माना

<br> स्थिति-I जैम

विषय व्

सम है --- <br> तब

<br>

<br>

<br> जो अभाव नहीं है, क्योँकि एक विषय पुराणक व् एक सम पूर्णांक का अंतर् कभी 2 नहीं हो सकता । <br> इसलिए,

<br> स्थिति - II समान परिणाम होंगे जैम

सम व्

विषम होगा <br> स्तिथि - III जब

व्

दोनों विषम है --- <br> तब

<br>

<br>

एकेकी है <br> स्तिथि - IV : जब

व्

दोनों सम है --- <br>

<br>

<br>

एकेकी है <br> अब f को आच्छादक दिखने के लिए, <br> माना

और

विषम है तब y + 1 सम है <br>

<br> और जब y सम है तब y-1 विषम है <br>

<br>

प्रत्येक y का प्रान्त (f) में पूर्व प्रतिबिम्ब है <br>

अछड़ाक है

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - BALAJI PUBLICATION Class 12 संबंध एवं फलन

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - BALAJI PUBLICATION Class 12 MATHS
यदि फलन `{("x + 1 यदि विषम है "),("x - 1 यदि सम है "):}` <br> द्वारा परिभाषित है तो सही उत्तर चुनिए -
सिद्ध कीजिए कि नीचे परिभाषित फलन `f:NtoN`, एकैकी तथा आच्छादक दोनों ही है : <br> `f(x)={{:(x+1"," "यदि x विषम है",),(x-1",""यदि x सम है",):}`
यदि वास्तविक मान फलन `f(x) = (a^x -1)/(x^n(a^x +1))` सम है, तब n का मान है
दिखाएँ कि `f : N rarr N` जो <br> `f(x) = {{:("x+1, यदि x विषम है"),("x-1, यदि x सम है"):}` <br> से परिभाषित है, एक एकैकी आच्छादक है।
सिद्ध कीजिए कि नीचे परिभाषित फलन `f:NrarrN`, एकैकी तथा आच्छादक दोनों ही है- <br> `f(x)={(x+1," यदि x विषम है "),(x-1,"यदि x सम है "।):}`
माना कि `f : Z rarr Z` इस प्रकार परिभाषित है: <br> `f(x) = {{:("x, यदि x सम है"),("x+1, यदि x विषम है"):}` <br> क्या `g : Z rarr Z` का अस्तित्व है ताकि
निम्निलिखित प्रतिचित्रण की एकेकी और आच्छादकता की जाँच कीजिए - <br> `f : N to N` जो `f(x) = x^(2), x in N` से परिभषित है , N धन पूर्णाकों का समुच्चय है
यदि `f(x)={:(x,"यदि",x," परिमेय है "),(0,"यदि",x," अपरिमेय है"):}` तथा `g(x)={:(0,"यदि",x," परिमेय है"),(x," यदि",x," अपरिमेय है"):}` तब`f-g` है
यदि `f(x)={(x,यदि x परिमेय है),(-x, यदि x अपरिमेय है ):}` तब `lim_(xto0)f(x)=`
यदि द्विअवकलनीय `f(x)` फलन `x = a` पर स्थानीय उच्चिष्ठ है , तो
मान लीजिए कि `f:[0,1]to[0,1],f(x)={{:(x",""यदि x परिमेय है",),(1-x",""यदि x अपरिमेय है",):}` द्वारा परिभाषित है , तो (fof)x:
यदि `f(x) = {{:(x,", यदि x परिमेय है "),(1-x,", यदि x अपरिमेय है"):}`, तब जिन बिंदुओं पर `f(x)` सतत है , उनकी संख्या है
एक अनभिनत पासा को एक बार फेंका जाता है। यदि यादृच्छिक चर निम्न प्रकार परिभाषित है : <br> X = `{{:("1, यदि परिणाम सम संख्या है।"),("0, यदि परिणाम विषम संख्या है।"):}` <br> X का प्रायिकता बंटन ज्ञात करें।
दिखाइए की `f:N-N` जबकि <br> `f(x)={{:((n+1)/2",","यदि n विषम है|"),(n/2",","यदि n सम है ।"):}` <br> एक बहु-एक आच्छादक फलां है |
यदि फलन f (x) आवर्त का सतत फलन है , तो समाकलन `I =int_a^(a+T)f(x)dx` का मान है
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt