Ask Free Unlimited Question
Join the 2 Crores+ Student community now!

निम्नलिखित कथनों पर विचार करें : कथन I : यदि A और B प्रतिदर्श समष्टि S के संगत दो घटनाएँ ऐसा है कि `P(A)=0.2" और "P((B)=0 cdot 8" तो "A bigcupB` एक सुनिश्चित घटना है | कथन I : यदि A और B परस्पर अपवर्ती हों तो P(A)+P(B)=1 इन कथनो में :


लिखित उत्तर

Open Answer in App

A

दोनों कथन सही है तथा कथन II कथन I की सही व्याख्या है |

B

दोनों कथन सही है परंतु कथन II कथन I की सही व्याख्या नहीं है |

C

कथन I सही है, परन्तु कथन II असत्य है |

D

कथन I असत्य है, परन्तु कथन II सही है |

Answer

A

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - KC SINHA Class 12 QUESTIONS OF B.S.E.B. 2009

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - KC SINHA Class 12 MATHS

EXAMINATION 2015

EXAMINATION 2009

EXAMINATION 2017

EXAMINATION 2019

QUESTION OF B.S.E.B. 2019

QUESTIONS OF B.S.E.B. 2016

QUESTIONS OF B.S.E.B. 2017

QUESTIONS OF B.S.E.B. 2018

QUESTIONS OF J.A.C. 2014

अनिश्चित समाकल

अवकल समीकरण

अवकल समीकरण के अनुप्रयोग

अवकलज के अनुप्रयोग ( राशियों के परिवर्तन की दर )

अवकलन

आव्यूह

उच्चतम और निम्नतम

त्रिविमीय ज्यामिति दो रेखाओ के बीच का कोण

दो सदिशों का अदिश गुणनफल

दो सदिशों का सदिश या क्रॉस गुणनफल

द्विचर संक्रिया

द्वितीय कोटि का अवकलज

निश्चित समाकलों के गुणधर्म

प्रतिलोम त्रिकोणमितीय फलन

प्रायिकता का गुणन प्रमेय

फलन

बरनौली परीक्षण और द्विपद बंटन

यादृच्छिक चर और प्रायिकता बंटन

रैखिक प्रोग्रामन

रैखिक समीकरणों के निकाय का हल

रोले का प्रमेय एवं लैगरॉंजे का माध्य्मान प्रमेय

वक्र से घिरे क्षेत्र ( समाकलों के अनुप्रयोग )

वर्ग आव्यूह का सहखण्डज तथा प्रतिलोम

वर्धमान और हासमान फलन

सदिश बीजगणित

सन्निकटन

समतल

सम्पूर्ण प्रायिकता का प्रमेय और बेज-प्रमेय

सम्बन्ध

सरल रेखा

सांतत्य या संतता

सारणिक

स्पर्श रेखा और अभिलम्ब

यदि A और B दो स्वतंत्र घटनाएँ इस प्रकार है जैसे की P(A)`gt`0 और P(B)`gt`0।, तो
दो घटनाएँ A तथा B परस्पर स्वतंत्र कहलाती है यदि <br> (a) ` P(P(A))= P(B)` (b ) ` P(A) + P(B) = 1` <br> (c ) `P(bar(A)bar(B)) = [ 1 - P (A)] [ 1 - P(B)]` <br> (d ) A और B परस्पर अपवर्जी है
दो घटनाएँ A तथा B परस्पर स्वतंत्र खलती हैं यदि (क) P(A)=P(B) (ख) P(A)+P(B)=1 (ग) P(bar AB)=[1- P(A)][1- P(B)] (घ) A और B परस्पर अपवर्जी है।
यदि A और B दो स्वतंत्र घटनाएँ है तथा `P(bar(A)) = 0.75` जहाँ `bar(A)` घटना नहीं होना दर्शाता है। `P(A cup B) = 0.75` तो `P(B)` का मान ज्ञात कीजिए।
निम्नलिखित कथनों पर विचार करें : <br> कथन I : यदि A और B प्रतिदर्श समष्टि S के संगत दो घटनाएँ ऐसा है कि `P(A)=0.2" और "P((B)=0 cdot 8" तो "A bigcupB` एक सुनिश्चित घटना है | <br> कथन I : यदि A और B परस्पर अपवर्ती हों तो P(A)+P(B)=1 इन कथनो में :
यदि P(A) =P(B) =x और `P(A cap B) =P(A' cap B')=1/3`, तब x का मान है
माना कि `bar(a)` और `bar(b)` दो एकांक सदिश हैं | यदि सदिश `bar( c )=bar(a)+2bar(b)` तथा `bar(d)=5bar(a)-4bar(b)` परस्पर लम्ब हों, तो `bar(a)` और `bar(b)` के मध्य कोण है :
यदि A और B सममित आव्यूह हैं तो : <br> `BA-2AB...........` है ।
संपूर्ण प्रायिकता के प्रमेयानुसार यदि `{ E_(1),E_(2) ……..E_(n)}` प्रतिदर्श समष्टि S के विभाजन हो और `E_(1),E_(2) …….. E_(n), n ` घटनाओ कि प्रायिकता शून्य नहीं है (अर्थात शून्यतर है ) और E प्रतिदर्श समष्टि के संगत घटना है ,तब `P (E ) ` =
यदि किसी बिंदु P के परवलय `y^(2)=4x` पर खींची गई दो स्पर्श-रेखाएँ परस्पर लम्ब हों, तो P का बिन्दुपथ है :
माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि `AP=2AB` यदि `angleBPC=beta` है, तो `tanbeta` बराबर है
यदि दो घटनाएँ A तथा B इस प्रकार से है कि P(A)=1/4, P(B)=1/2 तथा P(bar A nn bar B) ज्ञात कीजिये।
दो स्थिर बिंदु A और B के निर्देशांक क्रमशः `(a,0)` और `(-a,0)` है , तो चर बिंदु P का बिन्दुपथ ज्ञात कीजिए जबकि :<br>`PA = nPB` , जहाँ n अचर है ।
यदि A और B समान कोटि के वर्ग आव्यूह हैं, तो निम्नलिखित में से कौन-सा सही है ?
A और B दो घटनाएं हैं: <br> कथन । : यदि `P(barA) = 0.7 P(barB) = 0.5" और "P(A uu B)"= 0.6 तो"` <br> P(Ann E_(2)) = 0.2` <br> कथन II : `P(A uu B) + P (A nn B) + P (A nn B) + P (barA) + P (barB) =2.5`
Home
Online Class
Doubt?
Download App
Ask Doubt